पीछे

back
New Page 1
इमिडावीर
इमिडाक्लोप्रिड 17.8 प्रतिशत  एस.एल.
इमिडावीर नाइटा्रेक्यूनीडिन (क्लोरोनिकोटिनायल) वर्ग का अन्तरप्रवाही कीटनाशक है। गेहूँ, जौ, चना, आलू, सरसों, साग-सब्जियों व फलदार वृक्षों में चेपा, फुदको (होपर) तेला (जैसिड), सिल्ला, पायरीला आदि रस चूसने वाले कीटों से फसल की सुरक्षा में प्रभावी कीटनाशक है। समे उपलब्ध कीटनाशक रसायन लम्बे समय सक्रिय रहते है अतः इसका उपयोग दीमक के नियंत्रण के लिए अत्यंत प्रभावी रहता है।

उपयोग तालिका

प्रमुख फसलें नियंत्रित होने वाले कीट मात्रा
(प्रति एकड़)
विशेष
गेहूँ व जौ चेपा (एफिड), पर्णकीट 60 से 80 मि.ली.  80 से 120 लीटर पानी में घोल कर
उपयोग करें।
सरसों व गोभी कुल की सब्जियां चेपा, सुरंगी कीट, थिप उपरोक्त उपरोक्त
लहसुन, प्याज  पर्ण कीट (थ्रिप्स) उपरोक्त उपरोक्त
आडू, नींबू वर्गीय फल चेपा, सिट्रस सिल्ला व कोमल तन के कीट उपरोक्त उपरोक्त
धान पौधों व पत्तियों का फुदका, गंधी बग 40 मि.ली. 100 लीटर पानी में घोल बना कर  छिडकें
कपास
 
हरा तेला (जैसिड), माहू या चेपा (एफिड ) व पर्णकीट    40 मि.ली. उपरोक्त
सोयाबीन माहू (चेपा), पर्ण कीट (थ्रिप्स) 40 मि.ली. उपरोक्त
मक्का व  ज्वार  
 
चेपा या माहू, हरा तेला 40 मि.ली. उपरोक्त
मूंगफली, बाजरा, गन्ना व अन्य फसले   दीमक 100 से 150 मि.ली. सिंचाई जल के साथ प्रयोग करें
 
सावधानियां
इमिडावीर को सिफारिश की गई मात्रा में सामान्यतः सभी प्रकार के कीटनाशकों के साथ मिलाया जा सकता है किन्तु बोर्डो मिक्चर या चूने आदि क्षारीय फफूंदनाशकों के साथ इसका उपयोग न करे।
 

इमिडावीर द्वारा नियंत्रित कीट

गेहूँ का चेपा गेहूँ का पर्ण कीट प्याज में पर्ण कीट (थ्रिप्स) का प्रकोप
आलू पर चेपा का प्रकोप सरसों का सुरंगी कीट (लीफ माइनर) नींबू वर्गीय वृक्ष में पर्ण कीट
उत्तम उत्पाद

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे