पीछे

back
New Page 1
ब्रूनो
बूप्रोफेज़ीन  25 प्रतिशत एस.सी.

ब्रूनो एक अत्याधुनिक कीटों की वृद्धि को नियंत्रित करने में सक्षम कीटनाशक है। ब्रूनो द्वारा धान के पौधों से रस चूसने वाले भूरे फुदको एवं कपास व अन्य फसलों में हानिकारक मिलीबग कीट का सही ढंग से नियंत्रण होता है। ब्रूनो में निहित कीट वृद्धि नियामक (आई.जी.आर.) के प्रभाव से कीटों के शिशु (निम्फ) अपनी त्वचा झाड़ने में सक्षम नहीं होने से अगली अवस्था में सफलतापूर्वक रूपान्तरित नही हो पाते हैं और जल्दी ही मर जाता है। इस प्रकार ब्रूनो न केवल वर्तमान पीढी में कीटों की संख्या बढने से रोकता है वरन्‌ अगली पीढी के लिए सम्भावित कीटों के प्रकोप में काफी कमी करता है। इसके अतिरिक्त ब्रूनो के सम्पर्क में आई मादाओं में अंडे देना की क्षमता भी घटाती है और यदि उन्होने कुछ अंडे दिए भी गए है तो वे फूटते नहीं है। कीटों के लिए एक आई.जी. आर. प्रकृति का रसायन होने के कारण ब्रूनों पूर्णतः पर्यावरण सम्मत है एवं मकड़ियां जैसे लाभकारी परभक्षियों को क्षति नहीं पहुँचता है।

यह कीटनाशक कम विषाक्त होने के साथ ही बहुत कम मात्रा में उपयोग के कारण स्थनधारी जीवों एवं मित्र कीटों के लिए कम हानिकारक है।

 
उपयोग तालिका
प्रमुख फसलें नियंत्रित होने वाले कीट मात्रा
(प्रति एकड़)
विशेष
कपास मिली बग 500 मिली  फसल की अवस्था के अनुसार 200 से 250 लीटर पानी के घोल का उपयोग करें।
धान भूरे फुदके और निम्फ 300-350 मि.ली. एक एकड़ में 200-250 लीटर पानी का घोल बना कर छिड़के।
 
ब्रूनो के फायदें
  1. धान की फसल में घातक टुंगरू वायरस को फैलाने वाले भूरे फुदके की रोकथाम के लिए प्रभावी कीटनाशक।
  2. कीटों के शिशु (निम्फ) पौधे का रस चूसते हैं निम्फ को मारकर ब्रूनो फसल को होने वाले नुकसान को रोकता है।
  3. ये अगली पीढी को घटाता है और कीटों की संख्या बढ़ने से रोकता है।
  4. परजीवियों द्वारा होने वाले कुदरती नियंत्रण की रक्षा करता है।
  5. फसल प्रयोगकर्ता और पर्यावरण के लिए सुरक्षित है।
ब्रूनो द्वारा नियन्त्रित कीट

धान कर शिशु भूरा फुदका

धान का वयस्क भूरा फुदका

कपास की मिलीबग

 
धान का वयस्क हरा फुदका

  टुंगरू वायरस से ग्रस्त धान का खेत

 

 

उत्तम उत्पाद

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे