पीछे

back
New Page 1
फीगो
ट्राईसाईक्लोजोल 75 प्रतिशत डब्ल्यु.पी.

फीगो एक अंतरप्रवाही फफूंदनाशक है। छिड़काव करने पर फीगो पत्तियों द्वारा सोख लिया जाने के बाद उसकी नसों द्वारा अत:प्रवाहित हो कर पौधें में सर्वत्र फैल जाता है। धान की फसल में सहसामारी (ब्लास्ट) जैसे विनाशकारी रोग की रोकथाम के लिए फीगो एक जाना-माना असरकारी फफूंदनाशी है। फीगो को धान में बीज उपचार एवं फसल पर रोग की रोकथाम हेतु छिड़काव किया जाता है।

 
उपयोग तालिका
प्रमुख फ़सलें नियंत्रित होने वाले रोग मात्रा
(प्रति एकड़ )
विशेष
धान बीजोपचार 2 से 4 ग्राम  प्रति किलो बीज की दर से उपचारित करें।
पत्तियों व बालियों का सहसमारी (ब्लास्ट) रोग 120 से 160 ग्राम  - फ़सल की प्रारंभिक अवस्था में पत्तियों पर सहसमारी के लक्षण  दिखने पर 120 ग्राम फीगो का 100 से 120 लीटर पानी में घोल बना कर छिडके।

- बालियां की गर्दन में सहसमारी रोग दिखने पर 140 से 160 ग्राम फीगो 120 से 135 लीटर पानी में घोल कर प्रयोग करें।

 
उत्तम उत्पाद

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे