पीछे

back
सल्टोन
सल्फर 90 प्रतिशत दानेदार उर्वरक

सल्टोन चम्बल फर्टिलाइज़र्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड द्वारा प्रस्तुत विश्वस्तरीय तकनीक से निर्मित एक उत्कृष्ट उत्पाद है जिसमें 90 प्रतिशत गंधक दानेदार रूप में उपस्थित है। इस रूप में गंधक आवश्यकता के अनुसार धीरे-धीरे फसल की पूरी अवधि तक उपलब्ध होता है। सल्टोन की यही विशेषता इसे बाजार में उपस्थित अन्य सामान्य गंधकों की तुलना में अधिक प्रभावशाली बनाती है।

सल्टोन के प्रयोग से लाभ

गन्धक पौधों की सामान्य वृद्वि के लिए एक अत्यन्त आवश्यक तत्व है। गन्धक पौधो में क्लोरोफिल, स्टार्च, शर्करा, वसा, प्रोटीन, ग्लूकोसाइड व विटामिनों के संश्लेषण को भी सक्रिय करता है। गन्धक के प्रयोग से फसलों में पाले के प्रति रोधक क्षमता भी बढ़ती है। विभिन्न फसलों में गन्धक प्रयोग के लाभ निम्न प्रकार हैः

सल्टोन की कमी का फसलों पर प्रभाव
  1. जड़ो का अपर्याप्त विकास ।
  2. नई पत्तियों में पीलापन एवं कमजोर पौधे ।
  3. फसलों में फूल कम लगना व फलियों का देर से लगना ।
  4. फलियों एवं बालियों में अनियमित भराव ।
  5. फसलों में दाने समान आकार से छोटे व निम्न गुणवत्ता की उपज ।
  6. आलू व प्याज में कम संखया व असमान आकार ।
  7. तिलहनी फसलों में कप के आकार की पत्तियाँ, पत्तों तथा तनों के भीतरी हिस्से लाल ।

सल्टोन के उपयोग की विधि

  1. बुवाई से पूर्व सल्टोन को अन्य उर्वरकों के साथ 8-10 कि.ग्रा. प्रति एकड की दर से मिलाकर भूमि में प्रयोग करें।
  2. नींबू वर्गीय फसलें जैसे किन्नो, मौसमी, मालटा, नींबू आदि में 500-600 ग्राम प्रति फलदार पौधा।
उत्तम उत्पाद

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे