पीछे

back
New Page 2
कोडामा
(क्वीज़ालोफॉप-इथाइल 5 प्रतिशत ई.सी.)
कोडामा एक नया शक्तिषाली खरपतवारना’का है जो सोयाबीन की खड़ी फसल में उगे हुए सभी सकरी पत्ती वाले खरपतवारों का नियंत्रण करता है। कोडामा के साथ ज़ोरो मिलाकर प्रयोग करने से सकरी व चौड़ी पत्तियों वाली दोनों प्रकार की खरपतवारों का नियंत्रण हो जाता है। इसलिए सोयाबीन के सभी खरपतवारों पर निंयत्रण के लिए कोडामा के साथ जोरो का प्रयोग करना चाहिए।

उपयोग तालिका

प्रमुख फसलें नियंत्रित होने वाले खरपतवार मात्रा
(प्रति एकड़ )
विशेष
सोयाबीन कास, दूब, जंगली ज्वार, जंगली चौलाई, गाजर घास, छोटी दुग्धि, दिवालिया आदि कोडामा 300 मि.ली. + 15 ग्राम ज़ोरो + 250 मि.ली सरफेक्टेन्ट 150 लीटर पानी में घोलकर फसल की 3 से 5 पत्ती वाली अवस्था में छिड़काव करें।
 

घोल तैयार करने की विधि

15 ग्राम जोरो को एक लीटर पानी में घोलकर 250 मि.ली. सरफेक्टेन्ट के साथ 300 मि.ली कोडामा मिलाकर घोल बनायें। अब इस घोल को 150 लीटर पानी के साथ मिलाकर फसल पर छिड़काव करें।

  • कोडामा + जोरो दोनो ही अन्त:प्रवाही – क्रिया द्वारा शीघ्रता से खरपतवारों में प्रवेश कर जाते हैं। इसलिए छिड़काव के दो घंटे बाद भी बारिश होने पर प्रभावशाली बने रहते है।
  • कोडामा + जोरो का अनुशंसानुसार प्रयोग करने से सोयाबीन की फसल पर कोई दुश्प्रभावप्रभाव नहीं पड़ता है।

सावधानियां

  • कोडामा + जोरो का प्रयोग केवल सोयाबीन की फसल में ही करें।
  • एक स्थान पर दुबारा छिड़काव न करें।
उत्तम उत्पाद

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे