पीछे

back
New Page 2
हेक्साप्लस
(हेक्साकोनाजोल 5 प्रतिशत एस.सी.)
हेक्साप्लस ट्राईजोल वर्ग का अंत:प्रवाही बहुआयामी फफुन्द्नाशक है। हेक्साप्लस विभिन्न वर्ग (एस्कोमाइसिटीज, बेसिडियोमाइसिटीज व फंगीइमपरफेक्टाई) की फफूंदों में अर्गोस्टेरॉल के जैव-संश्लेषण की क्रिया को बाधित करता है जिससे वृद्धि नहीं होने से रोग कारक फफूंद नष्ट हो जाती है। हेक्साप्लस के उपयोग से खाद्दान्न, तिलहन व फलों के पौधों के चूर्णी-फफूंद, रतुआ व पत्ती-धब्बा आदि रोगों का प्रभावी नियंत्रण होता है।

उपयोग तालिका

प्रमुख फसलें नियंत्रित होने वाले खरपतवार मात्रा
(प्रति एकड़ )
विशेष
धान शीथ ब्लाईट, सहसमारी 300 मि.ली. 100 से 150 ली. पानी में घोल कर छिड़कें।
मूंगफली टिक्का रोग 4250-300 मि.ली 100 से 150 ली पानी में घोल कर छिड़कें।.  
मिर्च चूर्णी फफूंद 200 मि.ली 100 से 150 ली. पानी में घोल कर छिड़कें।  
आलू अगेती व पिछेती झुलसा रोग 200-250 मि.ली 100 से 150 ली. पानी में घोल कर छिड़कें।  
आम चूर्णी फफूंद 200 मि.ली 100 से 150 ली. पानी में घोल कर छिड़कें।  
अंगूर चूर्णी फफूंद 200 मि.ली 100 से 150 ली. पानी में घोल कर छिड़कें।  
 

सावधानियां

  • 200 मि.ली 100 से 150 ली. पानी में घोल कर छिड़कें।
  • सब्जियों में हेक्साप्लस के प्रयोग के 10 दिन बाद तुड़ाई करें।
 
उत्तम उत्पाद

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे