पीछे

back
New Page 1

माह - अगस्त

 
फ़सल रोग / कींट का नाम हानि के लक्षण रोकथाम / नियंत्रण
ज्वार पत्ती धब्बा रोग

वर्षा व अधिक नमी से पत्ती धब्बा, अंगमारी,एन्थ्रेक्नोज, जोनेट धब्बा रोग बुवाई के 40-50 दिन बाद लगता है.

 मेंकोजेब 75 डब्ल्यू०पी० 2 ग्राम/लीटर पानी मे घोलकर छिड़कें.

मक्का तना ᅠ छेदक कीट

इल्लियाँ तने में छेद करके अंदर के भाग को खाती है जिससे शीर्ष का भाग सूख जाता है.

7-7.5 किलो फोरेट 10 जी या 3 जी प्रति हेक्टेअर पौधो के पोटो मे डाले या 1800 ग्राम कार्बोरिल 50% डब्ल्यू०पी० को पानी में घोलकर छिड़काव करें.

पानी धब्बा रोग

पत्तियों पर भूरे रंग के धब्बे पड़ जाते है.

मेंकोजेब 75 डब्ल्यू०पी० 2 ग्राम / ली. पानी में घोलकर छिड़काव करें.

बाजरा रूट बाग कीट

यह कीट जड़ों मे लगकर उनका रस चूसते हैं, जिससे पौधों की बढ़ौत्तरी रूक जाती है.

मि. पॅराथियन 2% डस्ट 25 किलो / हेक्टेअर की दर से डालें.

कातरा

इसकी इलट पत्तों को कुतर कर खाती है, अधिक आक्रमण से फसल को भारी क्षति होती है.

प्रकाश पाश का उपयोग करें. छोटी अवस्था की इलट मि. पॅराथियन 2% या क्विनालफॉस 1.5% डस्ट का भुरकाव 25 किलो / हे. करें. बड़ी अवस्था की इलट पर फोसलोन 4% या कार्बेरिल 5% डस्ट का भुरकाव 25 किलों प्रति हेक्टेअर करें.

सफ़ेद लट

यह इलट पौधों को जड़ों को काट देता है, जिससे पौधे मर जाते है.

बुवाई पूर्व फोरेट 10 जी या क्यूनालफॉस 5% कणᅠया सेवीडॉल 4% कण 25 किलो प्रति हेक्टेअर की दर से डालें.

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे