पीछे

back
New Page 1

माह - सितम्बर

फ़सल रोग/कीट का नाम हानि के लक्षण रोकथाम/नियंत्रण
बैगन,टमाटर,मिर्च माहू/मोयला सफेद मक्खी हरा तैला, थ्रिप्स

यह सभी कीट पत्तियों का रस चूसते हैं जिससे पत्तियों में विषाणु भी फैलते हैं।

कार्बोसल्फ़ान 25 ई०सी० डाइमेथोएट 30 ई०सी० या मि. पॅराथियन 50 ई०सी० 1 मि. ली०ध्लीटर पानी में या एसोफ़ेट 75% 1 ग्राम/लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।

एन्थ्रेक्नोज व फल सड़न

पत्तियों व फलों पर गहरे रंग के धब्बे पड़ते हैं व सड़ने लगते हैं।

मेंकोजेब 2 ग्राम या डोडीन 65% डब्ल्यू. पी. 1 ग्राम/लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।

कुष्माण्ड कुल की सब्ज़ियाँ  फल मक्खी

इसके प्रकोप से फल काणें हो जाते हैं।

मि. पॅराथियन 50 ई०सी० या डाइमेथाएट 30 ई०सी० 1 मि०ली० प्रति ली० पानी में घोलकर छिड़काव करें।

तुलासिता व झुलसा रोग

पत्तियो की सतह पर भूरे धब्बे बन जाते हैं, पत्तियां झड़ने लगती हैं। तथा झुलसा रागे में निचली सतह पर फफूंद व सतह पर पीले धब्बे दिखाई देते हैं

मेंकोजेब 2 ग्राम या कार्बेन्डाजिम 1 ग्राम या जाइनेब 2 ग्राम प्रति लीटर पानी में घोलकर छिड़कें।

भिण्डी पीतशिरा मोजेक रोग

पत्तियों के शिराओं के पास वाला भाग पीला पड जाता है।

फल लगने के बाद मि. पॅराथियन 50 ई०सी० 1 मि०ली० प्रति लीटर या डी.डी. वी. पी. 0.5 मि०ली० प्रति लीटर पानी में घोलकर छिड़कें।

गोभी वर्गीय सब्ज़ियाँ झुलसा रोग

पत्तियों पर गहरे भूरे रंग के धब्बे बनते हैं।

मेंकोजेब या जाइनेब 2 ग्राम लीटर पानी में घोलकर छिड़कें।

अदरक तना छेदक

यह राइजोम (पंजे) में छेद करके हानि पहुँचाता है।

फ़ोरेट 10 जी 10 किलो या 3 जी 15 किलो प्रति हेक्टेअर भूमि में डालें।

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे