पीछे

back
New Page 1

माह - अक्टूबर

फ़सल कीट/व्याधि हानि के लक्षण रोकथाम/नियंत्रण
कपास सुन्डियाँ

डेंडू में छेद कर कपास को हानि पहुँचाती हैं।

फ़सल पर अंतिम छिड़काव 450 मि०लि० फेनवलरेट 20 ई०सी० या 400 मिली लीटर परमेथ्रिन 25 ई०सी० या क्यूनालफॉस 25 ई०सी० 1 लीटर या मोनोक्रोटोफॉस 36 एस०एल० 1 लीटर, या साइपरमेथ्रिन 5% ई०सी० क्लोरपाइरीफॉस 50 ई०सी० 1 लीटर या प्रोफेनोफॉस 40 ई०सी० साइपरमेथ्रिन 4% 1 से 1.25 लीटर या नीम आधारित कीटनाशक 2.5 से 3 लीटर प्रति हेक्टेअर छिड़काव करें।

धान ब्लास्ट एवं पत्ती धब्बा

इस रोग से पत्तियों पर धब्बे पड़ते हैं तथा दाने खराब हो जाते हैं।

रोकथाम के लिये 1 से 1.25 किलो मेंकोजेब या 500 मि०लि० किटेजिन प्रति हेक्टेअर का छिड़काव करें।

गंधी कीट

इस कीट के प्रकोप से बलियाँ सफ़ेद हो जाती हैं क्योंकि यह दानों का रस चूसता है।

 कार्बेरिल 5% डस्ट 25 किलो प्रति हेक्टेअर की दर से भुरकाव करें।

सैन्य कीट

 कभी बालियों में दाने भर जाने पर इसका प्रकोप भी होता है। बालियों को गर्दन से काटकर दाने खा जाते है।

इसके लिये मि. पैराथियान 2% डस्ट 25 किलो/हेक्टेअर भुरके या मि. पैराथियान 50 डब्ल्यू. एस.सी. 500 मि०लि० या क्यूनालफ़ॉस 25 ई०सी० 750-800 मि०लि०/हेक्टेअर का छिड़काव करें।

गन्ना सफ़ेद मक्खी तथा पाइरिल्ला

यह कीट पत्तियों का रस चूसते हैं जिससे पत्तियाँ कमजोर हो जाती हैं।

 इसके नियंत्रण हेतु इमीडेक्लोप्रिड 17.8 % दवा 100-125 मि०लि० या मेथोमिल 24% एस०एल० 3 से 4 लीटर या फेनोब्यूकार्ब 50% ई०सी० 750 से 1000 मि०लि० या कार्बोसल्फान 25 ई०सी० 1 लीटर या फोजोलॉन 35 ई०सी० 1 से 1.25 लीटर या मेलाथियान 50 ई०सी० 1.25 लीटर प्रति हेक्टेअर पानी में घोलकर छिड़काव करें। इससे कुछ हद तक बोरर कीटों का भी नियंत्रण होगा।
 

अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे