पीछे

back
कृषि कार्यमाला   माह

माह - मार्च

 
 गेहूं / जौ  चना  सरसों  सूरजमुखी
अफीम गन्ना अरण्डी राजमा
फ़सल
गेहूँ / जौ मध्य दिसम्बर में -  अर्थात्‌ देरी से बोये गये गेहूँ में -  बालियाँ आने की अवस्था पर सिंचाई करें। इसी प्रकार समय पर बोई गयी फ़सल में दानों की दूधियावस्था एवं दाना पकते समय (डफ़ स्टेज) पर सिंचाई आवश्यक है। कमांड क्षेत्रों में नहरी पानी से अंतिम सिंचाई करें। असिंचित क्षेत्रों में गेहूँ की कटाई व थ्रेशिगं का कार्य करें। जौ में दाने की दूधियावस्था पर नमी की कमी से पैदावार में कमी हो सकती है, अतः सिंचाई का ध्यान रखें।

 

चन असिंचित क्षेत्रों में चने की कटाई एवं थ्रेशिंग का कार्य पूर्ण करें। सिंचित चने की फ़सल में देरी से बोई गई फ़सल में यदि आवश्यकता हो तो नहरी क्षेत्रों में दूसरी सिंचाई बुआई के 100 दिन बाद दी जा सकती है।
सरसों सरसों की कटाई एवं थ्रेशिंग का कार्य करें। काटी हुई सरसों को खलिहान में अधिक समय तक नहीं रखें, अन्यथा पेन्टेड बग कीट दानों का तेल चूस लेगा, जिससे हानि होने की संभावना रहेगी। यदि किन्हीं कारणों से खलिहान में काटी गई फ़सल रखना ज़रूरी हो तो खलिहान की भूमि पर मिथाइल पेराथियान 2 % पावडर का भुरकाव पहले ही कर दें।
सूरजमुख समय पर फ़सल की कटाई करें। फूलों को डंठल के पास से काटें तथा फूलों को 2-3 दिन धूप में सुखाकर बीज निकाल लें। निकाले हुए बीजों को पुनः धूप में भली-भाँति सुखाएँ तथा भंडारण/बिक्री करें।यह ध्यान रखें की भंडारण के लिये नमी की मात्रा 9%-10 % से अधिक नहीं हो।
अफीम चीरा लगाने एवं अफीम एकत्र करने का कार्य सम्पन्न करें। समय पर बोई गई फ़सल  में डोड़ा सूख जाने पर तुड़ाई करें। इसी समय अगली फसल के लिये बीज के लिये अलग से प्लास्टिक की थैली में चयनित डोडों को एकत्र करें।
गन्ना गन्ने की बुआई करें। स्मरण रहे कि गन्ने के उपरी दो तिहाई भाग से तीन-तीन आंखों वाले टुकड़ों को ही बुआई के लिये उपयोग मे लेवें। प्रति हेक्टर 40 - 50 हजार टुकड़े पर्याप्त रहते है।
अरण्डी अरण्डी में फलियों की तुड़ाई का कार्य जारी रखें। अधिक पक जाने पर फलियां चटक जाती है, अतः पूर्ण रूप से पकने की प्रतिक्षा नहीं करें। पहली तुड़ाई, बुआई के 120 दिन बाद प्रारम्भ करने योग्य हो जाती है।
राजमा समय पर बोई गई राजमा की फसल की कटाई समय पर करें। फलियों का रंग पीला पड़ते ही कटाई करें अन्यथा अधिक पक जाने पर फलियां चिटककर दाने बिखर जावेंगे।
अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे