कृषि समस्याएं और सुझाव

प्रस्तुत प्रश्नोत्तरी किसानो द्वारा पूछे गये प्रश्नों एवं विशेषज्ञों द्वारा दिये गये उत्तरों पर आधारित एक उपयोगी संकलन है । इस प्रश्नोत्तरी में दी गई जानकारी , कृषि एवं कृषि आधारित समस्याओं का समाधान करने में कारगर साबित हो सकती है ।

खोजे :

में:

  
 अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न प्रिंट अनुच्छेद पसंदीदा में जोड़ें अपने मित्र को भेजें
गेहूं

 5. 

 प्रश्न : गेहूँ की पछेती क़िस्मों के बारे में जानकारी दें।

उत्तर : गेहूँ की पछेती क़िस्में व उनकी विस्तृत जानकारी इस प्रकार है -
सोनालिका (एस० 308) : यह क़िस्म देर की बिजाई के लिए उपयुक्त है। इसकी बिजाई सिंचित क्षेत्र में की जानी चाहिए। यह क़िस्म कम बौनी है तथा फुटाव कम, तना मज़बूत होता है। इसकी बालियाँ पकने पर हल्की लाल हो जाती हैं। यह अगेती पक जाती है। इसके दाने मोटे, शरबती व नर्म होते हैं। इसकी औसत पैदावार 16.8क्विंटल प्रति एकड़ है। करनाल बंट कम लगता है लेकिन भूरा रतुआ के लिए रोगग्राही है।

डब्ल्यु० एच० 291 : यह क़िस्म देर की बिजाई के लिए उपयुक्त है। इसकी बिजाई सिंचित क्षेत्र में की जानी चाहिए। यह क़िस्म बौनी है तथा फुटाव अधिक, बालियाँ गुंथी हुई तूड़ दार व पकने पर सफ़ेद हो जाती हैं। यह अगेती पकने वाली क़िस्म है। इसके दाने मध्यम आकार, शरबती व चमकदार होते हैं। इसकी औसत पैदावार 17.6 क्विंटल प्रति एकड़ है। भूरा व पीला रतुआ तथा करनाल बंट रोग कम लगता है।

एच० डी० 2285 : यह क़िस्म देर की बिजाई के लिए उपयुक्त है। इसकी बिजाई सिंचित क्षेत्र में की जानी चाहिए। यह क़िस्म बौनी है तथा फुटाव अधिक, पत्ते चौड़े व गहरे हरे रंग के, बालियाँ सफ़ेद होती हैं। यह मध्यम आकार, शरबती व चमकदार दाने वाली होती है। इसकी औसत पैदावार 17.6 क्विंटल प्रति एकड़ है। भूरा व पीला रतुआ तथा करनाल बंट रोग कम लगता है।

सोनक : यह क़िस्म देर व बहुत देर की बिजाई के लिए उपयुक्त है। यह अधिक उपज देने वाली तथा सिंचित क्षेत्र में उगाई जाने वाली क़िस्म है। यह कम बौनी, फुटाव अच्छा, तना मज़बूत पकाई पर लाल रंग की बालियाँ हो जाती हैं। यह अगेती पकती है। इसके मोटे शरबती दाने होते हैं। इसकी औसत पैदावार 18.0 क्विंटल प्रति एकड़ है। यह क़िस्म रतुआ, अंगमारी तथा चूर्ण रोग अवरोधी होती है।

राज० 3765 : यह पछेती व अधिक पछेती बिजाई के लिए उपयुक्त है। यह अधिक उपज देने वाली तथा सिंचित क्षेत्र में बोई जाने वाली क़िस्म है। यह बौनी, फुटाव अधिक, मज़बूत तना, सघन नुकीली व सफ़ेद बालियाँ होती है। पत्तियों का रंग हल्का होता है। इसके दाने मोटे, सख़्त व शरबती होते हैं। इसकी औसत पैदावार 18.4 क्विंटल प्रति एकड़ है। यह भूरा रतुआ अवरोधी व पीला रतुआ कम लगता है।

पी० बी० डब्ल्यु० 373 : यह क़िस्म देर की बिजाई, अधिक उपजाऊ व सिंचित क्षेत्रों के लिए उपयुक्त है। यह बौनी क़िस्म है। इसमें फुटाव अधिक, तना मज़बूत, न गिरने वाली, सीधी व तंग पत्तियों वाली होती है। इसके दाने मध्यम आकार, सख़्त व शरबती होते हैं। इसकी औसत पैदावार 18.4 क्विंटल प्रति एकड़ होती है। यह क़िस्म भूरा व पीला रतुआ अवरोधी होती है।

पीछे जाएँ
अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे