कृषि समस्याएं और सुझाव

प्रस्तुत प्रश्नोत्तरी किसानो द्वारा पूछे गये प्रश्नों एवं विशेषज्ञों द्वारा दिये गये उत्तरों पर आधारित एक उपयोगी संकलन है । इस प्रश्नोत्तरी में दी गई जानकारी , कृषि एवं कृषि आधारित समस्याओं का समाधान करने में कारगर साबित हो सकती है ।

खोजे :

में:

  
 अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न प्रिंट अनुच्छेद पसंदीदा में जोड़ें अपने मित्र को भेजें
गेहूं

 7. 

 प्रश्न : सिंचित क्षेत्रों में गेहूँ की अधिक उपज देने वाली क़िस्मों के लिए प्रति एकड़ कितनी नाइट्रोजन की सिफ़ारिश की जाती है?

उत्तर : सिंचित क्षेत्रों में गेहूँ की अधिक उपज देने वाली क़िस्मों के लिए 60 कि० ग्रा० नाइट्रोजन प्रति एकड़ की सिफ़ारिश की जाती है। यदि गेहूँ की फ़सल से पहले हरी खाद दी गई हो या अन्य दलहनी फसलें उगाई गई हों तो 25 प्रतिशत तक नाइट्रोजन की मात्रा घटाकर भी पूरी उपज ली जा सकती है। ध्यान रखें कि यदि वर्षा ऋतु में लगाई गई मूँग, दाने के लिए पकाई गई है तो नाइट्रोजन की मात्रा में कटौती नहीं करनी चाहिए। साथ ही ज्वार तथा बाजरा के बाद गेहूँ बोने पर नाइट्रोजन की मात्रा में 25 प्रतिशत की बढोतरी करें। साथ ही जिस कल्लर भूमि को अभी सुधार कर सामान्य बनाया है उसमें पोटाश व 10 किलोग्राम उत्तम ज़िंक सल्फ़ेट बीज से 3-6 से० मी० नीचे/एकड़ पोरे। बिजाई के अगले दिन खेत की ऊपरी सतह पर 4-5 टन बारीक गले-सड़े गोबर की खाद बिखेरें। इससे फ़सल का अंकुरण जल्दी होगा इसके बाद पहली सिंचाई (जो बिजाई के एक माह बाद करें) के समय 30 किलोग्राम नाइट्रोजन/एकड़ प्रयोग करें।

पीछे जाएँ
अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे