कृषि समस्याएं और सुझाव

प्रस्तुत प्रश्नोत्तरी किसानो द्वारा पूछे गये प्रश्नों एवं विशेषज्ञों द्वारा दिये गये उत्तरों पर आधारित एक उपयोगी संकलन है । इस प्रश्नोत्तरी में दी गई जानकारी , कृषि एवं कृषि आधारित समस्याओं का समाधान करने में कारगर साबित हो सकती है ।

खोजे :

में:

  
 अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न प्रिंट अनुच्छेद पसंदीदा में जोड़ें अपने मित्र को भेजें
औषधीय पौधे

 6. 

 प्रश्न : ब्राह्मी के औषधीय उपयोग के बारे में जानकारी दें।

उत्तर : महर्षि चरक के अनुसार ब्राह्मी मासरोगों की अचूक दवा है। यह अपस्मार में विशेष लाभ करती है। सुश्रुत संहिता के अनुसार ब्राह्मी का उपयोग मस्तिष्क विकृति, नाड़ी दौर्बल्य, अपस्मार, उन्माद एवं स्मृति नाश में लाभकारी है। ब्राह्मी पंचांग का सूखा चूर्ण मानसिक कमजोरी, तनाव, घबराहट व अवसाद के रोगियों को देने से लाभ होता है। भावप्रकाश के अनुसार ब्राह्मी मेधावर्धक है। हिस्टीरिया जैसे रोग में तुरन्त लाभ करती है। सिर दर्द, चक्कर, भारीपन तथा चिन्ता में ब्राह्मी तेल का प्रयोग उत्तम है। ब्राह्मी की क्रिया मस्तिष्क और मज्जा तंतुओं पर होती है। मस्तिष्क की शान्ति देने के अतिरिक्त यह पौष्टिक टॉनिक का भी काम करती है। अधिक बोलने से स्वर भंग व तुतलाने में भी ब्राह्मी सफलतापूर्वक कार्य करती है। ब्राह्मी को पागलपन व मिर्गी की औषधि बताया गया है।

पीछे जाएँ
अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे