कृषि समस्याएं और सुझाव

प्रस्तुत प्रश्नोत्तरी किसानो द्वारा पूछे गये प्रश्नों एवं विशेषज्ञों द्वारा दिये गये उत्तरों पर आधारित एक उपयोगी संकलन है । इस प्रश्नोत्तरी में दी गई जानकारी , कृषि एवं कृषि आधारित समस्याओं का समाधान करने में कारगर साबित हो सकती है ।

खोजे :

में:

  
 अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न प्रिंट अनुच्छेद पसंदीदा में जोड़ें अपने मित्र को भेजें
आलू

 3. 

 प्रश्न : मेरी आलू की फ़सल में पत्तियों पर गहरे भूरे रंग के धब्बे बनते हैं जो बाद में भूरे-काले पानी से भीगे जैसे दिखाई देते हैं। कभी-कभी तो पत्ती, तना व आलू पर भी ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं। अधिक असर होने पर पत्तियाँ झुलस जाती हैं और पौधे मर जाते हैं?

उत्तर : यह लक्षण आलू की फ़सल में पिछेती झुलसा बीमारी (चुर्रा) के हैं। इसके प्रकोप से कभी-कभी फ़सल पूरी तरह झुलस जाती है और पौघे मर जाते हैं। इस बीमारी से फ़सल के उत्पादन पर बहुत ही अधिक विपरीत प्रभाव पड़ता है। इसको रोकने के लिये बुवाई के 45 दिन बाद वीर एम० 45 की 700-800 ग्राम मात्रा को 300-350 ली० पानी में घोलकर प्रति एकड़ सुरक्षात्मक छिड़काव करें तथा 20 दिन बाद पुनः दोहरायें। यदि इसके बाद भी प्रकोप के लक्षण दिखाई दे तो 0.2 से 0.25 प्रतिशत एम-2 दवा के घोल का छिड़काव करें।

पीछे जाएँ
अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे