कृषि समस्याएं और सुझाव

प्रस्तुत प्रश्नोत्तरी किसानो द्वारा पूछे गये प्रश्नों एवं विशेषज्ञों द्वारा दिये गये उत्तरों पर आधारित एक उपयोगी संकलन है । इस प्रश्नोत्तरी में दी गई जानकारी , कृषि एवं कृषि आधारित समस्याओं का समाधान करने में कारगर साबित हो सकती है ।

खोजे :

में:

  
 अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न प्रिंट अनुच्छेद पसंदीदा में जोड़ें अपने मित्र को भेजें
पशुपालन

 1. 

 प्रश्न : पशुओं के पेट में नुकीली वस्तुएँ होने का कैसे पता लगाया जाए और उसका उपचार कैसे किया जाये?

उत्तर : पशु के पेट में नुकीली चीजों से सबसे पहले पेट में सूजन शुरु होती है, जिससे पशु काफ़ी दर्द महसूस करता है। पशु खाना-पीना बंद कर देता है और हल्का ज्वर भी हो सकता है। पशु कमजोर होने लगता है। पशु की दूध देने की क्षमता भी कम होने लगती है। पशु को बार-बार अफारा आने लगता है जिससे पशु को सांस लेने में कठिनाई होती है। कई बार अफारा इतना तीव्र होता है कि पशु लेट जाता है और सांस की तकलीफ़ से मर भी जाता है। नुकीली वस्तुओं से पेट के भीतरी भाग में और/या शरीर के अन्य भीतरी अंगों में फोड़े बन सकते हैं जो पशु के लिए घातक सिद्ध हो सकते हैं। कई बार इन नुकीली चीजों से छाती का पर्दा भी फट जाता है जिससे पेट का एक हिस्सा छाती में चला जाता है। शरीर कमजोर होने लगता है। कभी-कभी पशु काले रंग का गोबर करने लगता है। इस रोग का एकमात्र इलाज शल्य चिकित्सा है जिसमें पशु के पेट का आपरेशन करके इसमें पडी बाह्य वस्तुओं को निकाल देते हैं। शल्य चिकित्सा के बाद पशु को हल्का और हरा चारा देना चाहिए। पशु को बाहर नहीं घुमाना चाहिए और घाव को गंदगी और मक्खियों से बचाकर रखना चाहिए नहीं तो घाव में कीड़े पड़ सकते हैं। प्रायः पशु 10-12 दिन में बिल्कुल ठीक हो जाता है। लेकिन कुछ अवस्थाओं में पशु पूर्ण रूप से ठीक नहीं हो पाता, जैसे पेट के हिस्से शरीर के दूसरे अंगों से जुडे होने पर या पेट के अन्दर और बाहर फोड़े बन जाने पर। ऐसी अवस्थाओं में पशु को लम्बे समय तक पैनिसिलीन के टीके लगाने से कुछ राहत मिल सकती है।

पीछे जाएँ
अस्वीकरण   | कॉपीराइट © 2011 चम्बल फर्टिलाइजर्स एण्ड केमिकल्स लिमिटेड | सर्वश्रेष्ठ अवलोकन हेतू 1024 x 768 पर देखे